There was an error in this gadget

Search This Blog

Wednesday, April 18, 2012

उलाहनाभरी आत्मीयता


हादसों के निमंत्रणपत्र
मेरे ज्येष्ठ पुत्र सृजन चतुर्वेदी का शुक्रवार को धर्शाला (हिमाचल) जाते हुए  गंभीर एक्सीडेंट हो गया। इन्हें दिल्ली के अखिलभारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया। जहां कि उनका गंभीर ऑपरेशन किया गया जो कि आप सभी मित्रों की दुआओं एवं प्रभु की कृपा से पूर्णतः सफल रहा। आज उन्हें घर ले आया गया है। आप लोगों की आत्मीयता से मेरे पूरे परिवार को बड़ा संबल मिला है। आप सभी शुभचिंतकों के प्रति आभार।
  कुछ मित्रों ने शिकायत की कि उन्हें इस दुर्घटना का समाचार मैंने क्यों नहीं दिया। तो मैं उनसे यही कह सकता हूं कि ऐसे समाचार एक-दूसरे के जरिए ही आपस में पहुंचते हैं। इन दुखद प्रसंगों के निमंत्रण पत्र छपवाने का कोई सामाजिक प्रावधान तो होता नहीं है। फिर भी फेसबुक और ब्लॉग के जरिए तमाम लोगों को खबर मिल ही गई थी। जिनको शिकायत है उनकी शिकायत में भी कहीं उलाहनाभरी आत्मीयता तो है ही। ऐसे मित्रों का भी हार्दिक आभार।
पंडित सुरेश नीरव
वडोदरा में कवि सम्मेलन
वडोदरा-विगत दिनों ओएनजीसी द्वारा भारतरत्न बाबासाहब भीमराव अंबेडकर की जयंती पर अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। जिसकी अध्यक्षता प्रसिद्ध हिंदी कवि एवं पत्रकार पंडित सुरेश नीरव ने की। संचालन किया लोकप्रिय कवि डॉक्टर माणिक मृगेश ने। कवि सम्मेलन में डॉक्टर राहत इंदौरी,गुरु सक्सेना,उर्मिला उर्मि,सुषमा सिंह, सैयद नदीम,माणिक मृगेश एवं पंडित सुरेश नीरव ने सार्थक काव्यपाठ किया।
Post a Comment