There was an error in this gadget

Search This Blog

Friday, April 27, 2012

शब्दिका ***
*************
बेटा ,
मैंने जी तोड़ कर
अपना पेट काटकर
तुम्हें पढाया ,लिखाया  
बहुत बड़ा बना दिया .
अब तुम्हे मिलेगा 
अच्छा खासा पैकेज ...
जिससे तुम ,
तुम्हारी पत्नी ,तुम्हारे बच्चे 
जीवन भर कर सकेंगे मौज 
छोड्दो मुझे अकेला ......
हमेशा की तरह 
संस्कारित  बेटे ने कहा----
पापा जब तक 
आप है ,मम्मी हैं तबतक 
इससे बड़ा पैकेज 
और क्या हो सकता है मेरे लिए *****
शेष ,फैसला बाद मे करेंगे .,,
अन्य
पैकेज के लिए -------- ************
*******************************
प्रकाश प्रलय कटनी --
---------------------------------------------------------
२८-०४-२०१२
****************************************************


Post a Comment