There was an error in this gadget

Search This Blog

Tuesday, May 15, 2012

जनाब रिंद सागरी को मिला इस साल का सम्मान


 सर्वभाषा सांस्कृतिक समन्वय समिति
साहित्यशिरोमणि पंडित दामोदरदास चतुर्वेदी साहित्यसम्मान-2012
रिंद सागरी
रिंद सागरी
12 अक्टूबर 1931 को फर्रुखाबाद के फतेहगढ़ में जन्मे पी.आर.श्रीवास्तव यानीकि जनाब रिंद सागरी उर्दू अदब के उन फ़नकारों में से है जो हिंदुस्तान ही नहीं बल्कि पाकिस्तान की अदबी दुनिया में भी उस्ताद शायर की हैसियत से जाने-माने जाते हैं। अपने पहले काव्य-संग्रह रेगजार से लफ्ज़ों का सफर शुरू करनेवाले इस शायर के अदबी खाते में आज 15 किताबें दर्ज़ हैं। उर्दू अकादमी उ.प्र.के इमतियाज़-ए-मीर एवार्ड और उर्दू अकादमी दिल्ली के अमीर खुसरो एवार्ड से नवाजे जा चुके रिंद सागरी आकाशवाणी-दूरदर्शन और भारत के दस अखबारों के अलावा पाकिस्तान के फानून,अफकार ,रोशनाई और औराक-जैसे अखबारों के जरिए अपने चाहनेवालों से नियमित रू-ब-रू होते हैं। रिंद सागरी के बधाई..
मोबाइलः 09711422058
पंडित सुरेश नीरव
Post a Comment