There was an error in this gadget

Search This Blog

Wednesday, September 21, 2011


बधाई
----------------------
घनश्याम जी
आग
और
तो लिए
का
प्रयोग
शब्दों का
छप्पन भोग -------
व्यंग्य का तेवर ---
ऐसेही लिखते रहें
निरंतर ---------
--------------
बधाई -------
-----------------------
प्रकाश प्रलय कटनी
--------------------------
Post a Comment