There was an error in this gadget

Search This Blog

Tuesday, December 20, 2011

शब्दिका --
--------------*
जनता खड़ी 
बाज़ार में
अपनी मांगे खैर ****
रोटी 
हमको दीजिये .,
भाषण से है बैर --****
********************
प्रकाश प्रलय कटनी ************** *********
*****************
Post a Comment