There was an error in this gadget

Search This Blog

Sunday, March 18, 2012

प्यार जताना अलग बात है/
प्यार निभाना अलग बात है।
अलग बात है सच कह पाना,
सच सह पाना- अलग बात है।
 यों तो वहाँ सभी होंगे- पर
मेरा जाना, अलग बात है।
शोखी बड़ी बात है लेकिन
यों शरमाना- अलग बात है।
-अतुल कनक
Post a Comment