Search This Blog

Friday, June 22, 2012

जीर्णानि-वस्त्राणि यथा विहाय


हंसजी को पितृशोक
नईदिल्ली-23 जून सुप्रसिद्ध कवि तथा अखिल भारतीय सर्वभाषा संस्कृति समन्वय समिति की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष श्री भगवानसिंह हंस के पिताश्री का लंबी बीमारी के बाद देहांत हो गया। उनका अंतिम संस्कार आज सुबह 9.30 बजे निगमबोध घाट पर किया गया। अखिल भारतीय सर्वभाषा संस्कृति समन्वय समिति एवं जयलोकमंगल के सभी साथियों की ओर से दिवंगत आत्मा को भावभीनी श्रद्धांजलि। 
                                                -पंडित सुरेश नीरव
Post a Comment