Search This Blog

Tuesday, August 14, 2012

ब्लॉगबाजी से भी जरूरी बहुत काम है।

अरविंद पथिकजी,
आपने सर्वभाषा संस्कृति समन्वय समिति के ग्वालियर अधिवेशन की जो सारगर्भित और व्यापक रपट लिखी है उसके लिए आपका बहुत-बहुत आभार। फोटो तो कई और साथियों ने भी खींचे हैं मगर वे अगले अधिवेशन तक ही पोस्ट हो पाएंगे।
ब्लॉगबाजी से भी जरूरी बहुत काम है।
ब्लॉग सबकुछ नहीं माननीय के लिए।
जश्ने आजादी मुबारक..
पंडित सुरेश नीरव
Post a Comment