There was an error in this gadget

Search This Blog

Sunday, September 23, 2012

*शब्दिका *
**************
जिसका बचपन *
पिता की पीठ पर *
बैठे -बैठे जगा हैं ,---*
आज वही बुढ़ापे में *
उसको * पीठ *
दिखाने में लगा हैं-*----?
***************************
प्रकाश *प्रलय *
--------------------------------
Post a Comment