There was an error in this gadget

Search This Blog

Wednesday, June 12, 2013


कल तलक वो  हमारी छांव में पले .
आज हम खुद हैं ,उनकी छाँव तले .
घनश्याम  वशिष्ठ 
Post a Comment