Search This Blog

Tuesday, November 23, 2010

उदास देखा है

हिंदी गीत कविता में रामावतार त्यागी का स्थान काफी ऊंचा स्थान रखता है-।ऊनकी कुछ पंक्तियां आपको सौंप रहा हूं---
तुम व्रत करो किसी की खातिर
लेकिन फल मुझको मिलता है
अर्घ्य चढाओ किसी सूर्य को
लेकिन जल मुझको मिलता है
तुम ने; जग ने ;दीवारों ने रोका सब ने
मगर हुआ क्या?मैने जब चाहा है
तुमको बैठे हुए पास देखा है
मैने तुम्हे स्वपन मे जब
भी देखा है
उदास देखा है
बैठे हुए पास देखा है
Post a Comment