There was an error in this gadget

Search This Blog

Saturday, November 27, 2010

जीवेम शरदः शतम

जीवेम शरदः शतम
आज हमारे दार्शनिक मित्र जिनके कथ्य में बकौल अरविंद पथिक प्लेटो की गहराई है,बड़ी धूमधाम से वर्षगांठ आई है। जयलोकमंगल की ओर से उन्हें शतशः बधाई है। वह निरंतर प्रगति के मार्ग पर अग्रसर हों,यशस्वी हों और दीर्घायु हों.. मैं प्रार्थनाभाव से यही कहूंगा कि-
आयुष्मान भव
शुभाकांक्षी
पंडित सुरेश नीरव
Post a Comment