There was an error in this gadget

Search This Blog

Monday, December 27, 2010

नव वर्ष-२०११ सभी को मंगलमय


नव वर्ष-२०११ की लोकमंगल के सभी सदस्यों एवं देशवासियों तथा प्रवासी भारतीयों के लिए इस बसंती बेला एवं सौरभता की तरह ढ़ेर सारी खुशियाँ लेकर आये और सभी आपने घर व परिवार में सुख-संपन्न रहें। सभी को मेरी शुभकामनाएं।
श्री नीरवजी धर्मशाला से लौटकर पुनः कटनी की यात्रा पर। वहां पर विख्यात कवि श्री प्रकाश प्रलय नव वर्ष २०११ के उपलक्ष्य में अखिल भारतीय कवि सम्मलेन राष्ट्र के नाम समर्पित करेंगे । जिसकी अध्यक्षता पंडित सुरेश नीरवजी करेंगे। आपकी यात्रा सुखद एवं मंगलमय हो ।
भगवान सिंह हंस
रचयिता-भरत चरित्र महाकाव्य, एम-९०१३४५६९४९
Post a Comment