There was an error in this gadget

Search This Blog

Thursday, January 20, 2011

स्वागतम! स्वागतम!! स्वागतम!!!



आदरणीय नीरवजी का मिश्र यात्रा से स्वदेश आने पर हार्दिक स्वागतम! स्वागतम !! स्वागतम!!! श्री नीरवजी विदेश यात्रा से दिनाँक १७-१-२०११ को स्वदेशीय राजधानी दिल्ली में आये और हवाई अड्डे से ही वनारस को सर्वभाषा राष्ट्रीय कवि सम्मलेन में मुख्य अतिथि के पद को सुशोभित करने के लिए रवाना हो गए थे। पुनः दिनाँक १९-१-२०११ को दिल्ली वापिस आ गए हैं। हम उनसे फोन पर कुछ विदेशी संस्मरणों से रु-ब-रु हुए। हम उनकी विदेशी यात्रा के साथ-साथ उनकी हिंदी भाषा को समर्पित स्नेह्ता के व्यस्त क्षणों में से समय निकालकर वनारस में सर्वभाषा राष्ट्रीय कवि सम्मलेन में मुख्य अतिथि के रूप में अपनी भागीदारी दर्ज की, का भी स्वागत करते हैं। मैं उनकी इस सर्वस्नेहता को बार-बार बधाई देता हूँ और प्रणाम करता हूँ। मेरे पालागन
-भगवान सिंह हंस
Post a Comment