Search This Blog

Tuesday, April 26, 2011



आपने कहा


नारीत्व का अभिशाप नारी की दुर्बलता बनकर रह गया।
नारी का होना उसका अभिशाप क्यों?
शायद यह अधिक कहना अधिक सही होगा ; नारी की दुर्बलता उसका अभिशाप बन गई।
Post a Comment