There was an error in this gadget

Search This Blog

Tuesday, April 12, 2011

जनता की भूख और विश्वाश को कुचल कर बने राजा के महल की एक बानगी !

अब राजाओं के तख़्त गिराने और ताज उछालने का वक़्त गया है !..................ईशु












Post a Comment