Search This Blog

Saturday, July 30, 2011

उदासी छोड़कर ......

उदासी  छोड़कर ......

है  हमें अहसास, क्या खोया उदासी  ओढ़कर 
हो गया अहसास, क्या पाया उदासी छोड़कर 

घनश्याम वशिष्ठ
Post a Comment