Search This Blog

Monday, August 8, 2011

तेरी चौखट पे आ गए .....

तेरी चौखट पे आ गए .....

ज़ेहन में जाने क्यूँ घने बादल से छा गए 
उल्फत का जाम वो हमें जब से पिला गए 
दीवानगी की आज हम से हद ही हो गयी 
सजदे के वास्ते  तेरी  चौखट  पे आ  गए 

घनश्याम वशिष्ठ 
Post a Comment