Search This Blog

Wednesday, September 28, 2011

86 वसंत पूरे किये स्वर साम्राज्ञी ने

लता मंगेशकर
जिनकी वाणी में सरस्वती विराजती है ऐसी स्वरों की साम्राज्ञी लता मंगेशकर का आज जन्म दिन है। आज भी अपनी इस बढ़ती उम्र में स्वरों का रियाज करनेवाली वाणी की देवी ने हिंदी,तमिल,मराठी,बांगला,डोगरी सभी भाषाओं में गीत गाए हैं। सारी दुनिया में भारत की आवाज बुलंद करनेवाली इस देवी को नवरात्रि पर अवतरित  समस्त देवियां दीर्घायुष्य प्रदान करें।
जीवेम शरदः शतम...जीवेम शरदः शतम...जीवेम शरदः शतम...जीवेम शरदः शतम...
                                          जीवेम शरदः शतम...





Post a Comment