There was an error in this gadget

Search This Blog

Saturday, September 24, 2011

बहुत याद आएंगे साठेजी

 वसंत साठे नहीं रहे
आज जब यह समाचार सुना कि वसंत साठे नहीं रहे तो अचानक विश्वास नहीं हुआ। साहित्य-कला-संस्कृति के लिए पूरी तरह समर्पित वसंत साठे मूल्यों को जीनेवाले राजनेता थे। जब वे केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री थे तब मेरे पहले काव्य संग्रह उत्तरार्ध कविता का उन्होंने भारतीय विद्या भवन के सभागार में लोकार्पण किया था। उसके बाद मेरे अनेक कार्यक्रमों में वे आए थे। 
 जयलोकमंगल परिवार की ओर से विनम्र श्रद्धाजलि..
पंडित सुरेश नीरव
000000000000000000000000000000000000000000000000000000000000000000
Post a Comment