Search This Blog

Sunday, September 25, 2011

महादेवी की छाया है  
 यास्मीन की काया है 
नीरव जी का हाथ है 
मधु  जी  का साथ  है 
प्रयाग में हमें बुलाया 
कार्यक्रम मन  भाया
                                                रजनी कान्त राजू


 
Post a Comment