There was an error in this gadget

Search This Blog

Thursday, October 27, 2011

आजाद हिंद फौज और देश की आजादी

संदर्भः आजाद हिंद फौज का गठन
देश की आजादी में आजाद हिंद फौज का अहम रोलव रहा है। अगर आजाद हिंद फौज न होती तो ब्रिटिश शासित तीनों सेनाओं में हड़तालें नहीं होती जिसने कि फिरंगी सरकार की रीढ़ की हड़्डी ही तोड़ दी और उन्हें मजबूर होकर भारत छोड़ने का फैसला करना पड़ा। भले ही क्रेडिट अहिसा को मिली हो मगर आजाद हिंद फौज और भगतसिंह-आजाद और बिस्मिल की कुर्बानियों को कौन नकार सकता है। रासबिहारी बोस की संगठन क्षमता और सुभाष बाबू के चुंबकीय व्यक्तित्व  ने हवाओं में जयहिंद का जयघोष गुंजा दिया। आजाद हिंद फौज के गठन पर आपने अच्छी जानकारी दी है।  पथिकजी,बधाई....
-----------------------------------------------------------------------------------------------------सम्मतिःसुरेश नीरव
Post a Comment