There was an error in this gadget

Search This Blog

Tuesday, December 13, 2011

शब्दिका ---
----------
वो 
सत्ता केलिए 
ऊँची 
उड़ान भर रहे हैं -----
घर में ही घर 
कर रहे हैं -----
--------------------
प्रकाश प्रलय कटनी ---
-----------------------------------
आदरनीय नीरव जी 
नमन 
--आप पर फिल्म  
बन रही है ---
उंचाई की छतरी 
फ़िल्मी लाइन मे
तन रही है -----
किसी रोल के लिए 
नाचीज़ को भी बताएं ------
शुभकामनाएं ---------------
----------------------------
प्रकाश्प्रलय कटनी ---

-------------------------------------
Post a Comment