There was an error in this gadget

Search This Blog

Monday, December 5, 2011

आपनें बड़ी खूबसूरती से जताकर हया 
किसी का अक्स , पलकों में छुपा लिया 


घनश्याम वशिष्ठ
Post a Comment