There was an error in this gadget

Search This Blog

Sunday, January 29, 2012

एक ताजा सर्वे में यह बात उभरकर सामने आई है कि 30 फीसदी टीनएजर्स कम से कम एक पर्सनल पासवर्ड अपने दोस्त के साथ शेयर करते हैं। स्टडी से यह भी पता चला है कि आजकल युवा अपने पार्टनर की विश्वसनीयता को जांच करने के लिए उससे पासवर्ड मांगते हैं। हालांकि अपना सीक्रेट कोड दोस्त के साथ शेयर करने में लड़कियां लड़कों से काफी आगे हैं। तुम मुझसे प्यार करते हो , मुझे अपना पासवर्ड दो इस स्टडी के मुताबिक आजकल युवा अपने पार्टनर की विश्वसनीयता को जांच करने के लिए उससे पासवर्ड मांगते हैं। यही नहीं आजकल तो इसकी तुलना सेक्स से की जाने लगी है। यही वजह है कि दोस्त के साथ पासवर्ड शेयर करने का मतलब है कि आप उस पर विश्वास करते हैं। उससे भी बढ़कर बात यह कि लड़कियां अपने बॉयफ्रेंड से पासवर्ड इसलिए चाहती हैं कि वह कहीं दूसरी लड़की के साथ डेटिंग तो नहीं कर रहा है। दरअसल, पासवर्ड के जरिए लड़के-लड़कियां अपने पार्टनर का चैट पढ़ते हैं और उससे पता लगाते हैं कि उसका पार्टनर दूसरी लड़की या लड़के से क्या बात कर रहा था। ऐसे में कहा जा सकता है कि पासवर्ड लॉयल्टी चेक करने का जरिया भी बन गया है। बेस्ट फ्रैंड के साथ सबकुछ शेयर करेंगे आजकल के यूथ अपने बेस्ट फ्रैंड के साथ सबकुछ शेयर करने में कोई गुरेज नहीं है। इस बारे में फैशन डिजाइनिंग की स्टूडेंट श्वेता पहुजानी का कहना है, मेरी बेस्ट फ्रैंड और मैं सबकुछ शेयर करते हैं। हमलोग एक-दूसरे से कुछ भी छुपाते नहीं हैं, तो पासवर्ड क्यों छुपाएं। वह सोशल साइट्स पर मेरा अकाउंट चेक करती है और उसपर कोई आपत्तिजनक कॉन्टेंट होता है, तो उसके बारे में बताती है। मैं भी उसका मेल चेक कर लेती हूं। यह करना काफी मजेदार होता है। मनोज कुमार दीक्षित, विशेष संवाददाता, सहारा समय न्यूज चैनल मोबाइल-09711011045
Post a Comment