There was an error in this gadget

Search This Blog

Wednesday, February 1, 2012

किशोर श्रीवास्तव से मिलिए

 हमारे जयलोकमंगल के सक्रिय सदस्य किशोर श्रीवास्तव के बारे में हमारे साथी बहुत कुछ जानना चाहेंगे। ये दिल के दरवाज़े हैं जो खुलते-खुलते खुलते हैं अभी तक जितनी तांक-झांक हो पाई है वह संब खंगाल के आपको परोस रहा हूं-
संक्षिप्त परिचयः बाल साहित्य की दस पुस्तकों के साथ ही लघुकथा, व्यंग्य
व कार्टून की एक-एक पुस्तकें प्रकाशित। गीत/संगीत, लघुकथा, बाल साहित्य,
व्यंग्य लेखन, कहानी व व्यंग्य चित्रकारी आदि के लिए राष्ट्रीय स्तर तक
के अनेक पुरस्कार/सम्मान प्राप्त। स्वरचित कार्टून, लघुकथाओं एवं
छोटी-छोटी कविताओं की पोस्टर प्रदर्शनी ‘खरी-खरी’ का वर्ष 1985 से देश के
विभिन्न स्थानों पर प्रदर्शन।
संपर्क सूत्रः द्वारा, हम सब साथ साथ पत्रिका, 916, बाबा फरीदपुरी, वेस्ट
पटेल नगर, नई दिल्ली-110008
मो. 9868709348, 8447673015, 9968396832
किशोर श्रीवास्तव के कुछ कार्टून-
देश के सभी मुख्य शहरों में किशोर श्रीवास्तव के कार्टूनों की प्रदशर्नियां लग चुकी हैं। और मीडिया द्वारा सराही गई हैं। कवि हृदय किशोर मन से आज भी किशोर हैं और समय के सत्य को चुलबुले अंदाज़ में स्वीकार कर उसे शोख ढंग से अपने पाठकों तक पहुंचाने का उनका अपना एक शोख अंदाज़ है। मैं उनके इस चांच्ल्य पूर्ण लावण्य का घोर प्रशंसक हूं। मेरी तरह आप भी इन के प्रशंक बन जाएं इन्हीं शनि-कामनाओं के साथ मैं इन्हें आपके सुपुर्द कर रहा हूं--आमीन
पंडित सुरेश नीरव
Post a Comment