There was an error in this gadget

Search This Blog

Sunday, October 7, 2012

श्राद्ध पक्ष की हकीकत

वाह भाई प्रकाश प्रलयजी,
क्या शब्दिका लिखी है।
पढ़कर मज़ा आ गया।
श्राद्ध पक्ष की हकीकत यही है।
बधाई हो।
-सुरेश नीरव
Post a Comment