There was an error in this gadget

Search This Blog

Friday, October 5, 2012

नीरव जी का अभिनन्दन्

विश्व हिन्दी सम्मेलन में भाई सुरेश नीरव जी ने अपनी काव्य प्रतिभा व हिन्दी सेवा के झंडे गाड़ दिये, यह समाचार गद्गद कर गया.

जोहांसबर्ग की धरा भी धन्य हो गयी, एक बार पुन: बधाई एवम हार्दिक अभिनन्दन !


भाई अरविंद पथिक की पुष्प-गुच्छ वाली रचना मन को छू गयी.

रचना प्रस्तुत करने पर  धन्यवाद. 
Post a Comment