There was an error in this gadget

Search This Blog

Saturday, November 20, 2010

लोक मंगल के महानायक का स्वर्णमुकुट से सम्मान



लोकमंगल के महानायक पंडित सुरेश नीरव का उनके जन्म सालगिरह २० जून २००८ को (अखिल भारतीय भाषा साहित्य सम्मलेन भोपाल में ) स्वर्णमुकुट पहनाकर सम्मान करते हुए भगवान सिंह हंस, साथ में डा० सतीश चतुर्वेदी एवं गीत, गजल तथा कविता से रू-ब-रू करती हुई मात्रशक्ति।




सर्वश्री मधु मिश्रा , डा० प्रेमलता नीलम, मंजु ऋषि , दया निर्दोषी

















और जीवं शरदः शतम- हमने पी है जरूर , आप जाने न जाने , के मधुर गीत के द्वारा श्री नीरवजी को आशीष देती हुईं एवं सभी का आभार व्यक्त करती हुईं सम्मान्या डा० मधु चतुर्वेदी

भगवान सिंह हंस

Post a Comment