There was an error in this gadget

Search This Blog

Sunday, January 23, 2011

जय हिंद साथिओं .नेताजी मानव थे और हम उनके वंसज .वो आज भी हमारी  आत्मा में विराजमान हैं .आईये इन चोरों और अपराधिओं को भी मानव बनाएं ..देश में मानववाद लायें और प्रेम का तिरंगा लहरायें .नीरव जी मानववादी हैं .हम सब मानववादी हैं .आईये आपस में प्रेम करें और भारत माता की आवाज़ बुलंद करें .जय हिंद जय मानव की.
आप सभी का प्रेमी
अभिषेक मानव
Post a Comment