There was an error in this gadget

Search This Blog

Wednesday, January 19, 2011

स्वागत

          स्वागत  श्री नीरव जी का स्वदेश लोटने पर ! मंजु ऋषी  भी ब्लॉग पर लोट आईं , बधाई  !रहा सवाल .........................मान जायेंगी !
पता नहीं  सवाल तो एक ही था  पर मंजु ऋषी का जबाब  कुछ  और 
है ,और.....जी का जबाब कुछ और है !लेकिन दोनों ने कविता में दिया है ! एक जबाब आना अभी बाकी है  !...........योगी 
 
Post a Comment