Search This Blog

Saturday, January 8, 2011

क्रमश .....

                                दोनों निशब्द !भाव हैं ,भावनाएं हैं ,संवेदनाएं हैं ,प्रेम उपजा होगा !आदमी से कुत्ते को या कुत्ते से आदमी को या दोनों को एक दूसरे से ,पता नहीं !लेकिन ये सच है की दोनों के बीच किसी भी भाषा के शब्दों का इस्तेमाल नहीं हुआ है ! हुआ भी हो तो कम-स-कम कुत्ते की तरफ से नहीं !शब्द माध्यम हें ,गंतव्य नहीं ! ............................................प्रशांत योगी 
                   
                                        
Post a Comment