Search This Blog

Sunday, February 6, 2011

आजादी के संग्राम का सनातन स्मारक

श्री राजमणिजी
आप देश के स्वतंत्रता सेनानियों के तीर्थ स्थल सेलुलर जेल से होकर लौटे हैं। जहां तमाम देशभक्तों की यातना गाथाएं वहां की हवाओं में आज भी तैरती हैं। अंडमान निकोबार हमारी आजादी के संग्राम का सनातन स्मारक है। बलिदान और आत्म गौरव से लवरेज वादियों की खुशबू से आपने जयलोकमंगल ब्लॉग को भी सुगंधित कर दिया है। और वसंत से पहले ही वसंत ला दिया है। मेरा रंग दे बसंती चोला की अमर धुन एक बार फिर जागृत हो गई। इस पुण्य कार्य हेतु आपको अनेक साधुवाद
पंडित सुरेश नीरव
Post a Comment