Search This Blog

Friday, April 29, 2011

क्या मृणाल मराठी भाषा जानती हैं


अरविंद पथिक और मधु चतुर्वेदी की आज ब्लॉग पर पोस्ट पढ़कर जानकारी मिली कि मृणाल पांडे ने विष्णुभट्ट गोडसे की पुस्तक का अनुवाद किया है,वो भी हिंदी में। गोडसे ने यह पुस्तक मराछी में लिखी थी। क्या मृणाल मराठी भाषा जानती हैं। या फिर उन्होंने बहुत पहले अमृतलाल नागरजी के द्वारा किये गए अनुवाद का ही प्रति अनुवाद कर दिया है। अगर ऐसा किया है तो भी कम-से-कम उन्हें नागरजी का उल्लेख अवश्य करना चाहिए था। पथिकजी ने पाठकों का ध्यान इस तरफ खींचकर बहुत अच्छा काम किया है। बधाई..

-मुकेश परमार

Post a Comment