There was an error in this gadget

Search This Blog

Sunday, December 4, 2011

एक युग का अंत

अलविदा देवानंद
 हिंदी सिनेमा दर्शकों की तीन पीढियों के दिलों पर राज करनेवाले 89 वर्षीय सदाबहार हीरो जनाब देवानंद का लंदन की वाशिगटन होटल में दिल का दौरा पड़ने से कल रात देहांत हो गया। आधुनिकता और परंपरा के पावन संगम दोवानंद ने हिंदी फिल्मों को जो संगीत दिया और अपनी संवाद अदायगी से लोगों के दिलों पर जो जादू किया वो कभी खत्म नहीं होनेवाला। इमरजेंसी में लोकतंत्र की आवाज़ उठानेवाले देवानंद को पूरे देश का सलाम।
पंडित सुरेश नीरव
0000000000000000000000000000000000000000000000000000000000000000000000000000
Post a Comment