Search This Blog

Thursday, December 1, 2011

घर में हुए परदेसी


आज ब्लॉग पर पंडित सुरेश नीरवजी को दो चित्र देखे। जो कि प्रवासी संसार के संपादक राकेश पांडेय ने भेजे हैं। चित्र देखकर मजा गया। अपने ऊपर व्यंग्य करना और दूसरों के व्यंग्यों का भरपूर आनंद लेना नीरवजी की खासियत है। ऐसा व्यक्ति ही दार्शनिक होता है। और फिर नीरवजी तो खुद व्यंग्यकार हैं। पांडेयजी को उनकी फोटोग्राफी के लिए बधाई। और नीरवजी को सादर प्रणाम। और शादी के सफल आयोजन हेतु संस्कारसारथी परिवार की बधाइयां।
-मुकेश पारमार
संपादकःसंस्कार सारथी
Post a Comment